Hindi

नहीं, कोई भी कानून अविवाहित जोड़े को होटल में रहने से नहीं रोकता है

हम एक ऐसे देश में रहते हैं जहां प्रेम प्रसंग की अवधारणा, शादीशुदा यौन संबंध या आकस्मिक सेक्स अभी भी एक अनैतिक कार्य, पाप और अश्लीलता के रूप में देखा जाता है। भारत की युवा पीढ़ी के एक बड़े समूह ने कभी भी अपने माता-पिता के साथ प्यार या यौन संबंध जैसे विषयों के बारे में चर्चा करने में सहजता महसूस नहीं की है और हमेशा ऐसी चीजों को छिपाना बेहतर समझा है।

यह वर्ष 2018 है, और हमारे आसपास अभी भी स्कूलों में अनिवार्य रूप से यौन शिक्षा नहीं दी जाती है। तो, यह आसानी से समझा जा सकता है कि जब कोई युवा अविवाहित जोड़ा, होटल में एक कमरा पाने का प्रयास करता है, तो अधिकतर बार उन्हें अस्वीकार कर दिया जाता है या कभी-कभी परेशान भी किया जाता है। लेकिन सवाल यह है, ‘क्या कोई ऐसा कानून है जो अविवाहित जोड़ों को होटल में चेक इन करने से हतोत्साहित करता (या रोकता) है? क्या यह अवैध है? जवाब ‘नहीं’ है।

“ऐसा कोई कानून नहीं है जो अविवाहित जोड़ों को होटल में एक साथ रहने से रोकता है। किसी के साथ रहने का चयन करना किसी की व्यक्तिगत पसंद है और यह आपकी आजादी का एक हिस्सा है, और इसपर रोक नहीं लगायी जा सकती है।” – सुधा रामलिंगम, वरिष्ठ वकील

अविवाहित जोड़ा, होटल, कानून, अवैध, सेक्स

कुछ लोगों को भारतीय ‘परंपराओं’ और ‘मूल्यों’ की रक्षा करने की आवश्यकता महसूस होती है। वे हस्तक्षेप करके भारत में ‘जीवन के आधुनिक तरीकों’ को ‘शुद्ध’ करने को खुद का कर्तव्य समझते हैं। लेकिन वे यह समझने में असफल हो जाते हैं कि दो वयस्कों के बीच जो कुछ भी होता है वह किसी अन्य व्यक्ति का मामला नहीं होता है, और ना ही यह पुलिस या किसी अन्य कानून को लागू करने वाले एजेंट का मामला है। ऐसे कई मामले सामने आये हैं जहां युवा अविवाहित जोड़ों को सार्वजनिक स्थानों पर परेशान किया गया है।

उदाहरण के लिए, वर्ष 2015 में, लगभग 40 जोड़ों को पुलिस द्वारा होटल के कमरों से अवैध रूप से गिरफ्तार किया गया था और उनपर ‘अश्लील सार्वजनिक व्यवहार’ के तहत आरोप लगते हुए 1200 रुपये का जुर्माना लगाया गया था। उनके दुखों में इजाफा तब हुआ, जब उन्हें निकटतम पुलिस स्टेशन में हिरासत में लिया गया और उन्हें अपने माता-पिता को फोन करने के लिए मजबूर होना पड़ा। पुलिस ऐसी चीजें इसलिए करती है क्योंकि उन्हें ऐसा लगता है कि इन युवा जोड़ों को ‘नैतिक’ सबक सिखाना और उन्हें गंभीर ‘अपराध’ करने का दोषी महसूस कराना उनकी ज़िम्मेदारी है। ऐसी घटनाएं समाज के मूल्यों का यथार्थवादी प्रतिबिंब हैं जहाँ हम रहते हैं। इस प्रकार, यह आश्चर्य की बात नहीं है कि अगर बड़ी संख्या में भारतीय नागरिकों का मानना है कि अविवाहित जोड़े के लिए एक कमरा लेना ‘अवैध’ है।

READ  आज के दौर की वो 5 महिलाएं जो हमारे समाज की तकदीर बदलते हुए कर रही हैं दुनिया अपनी मुट्ठी में
अविवाहित जोड़ा, होटल, कानून, अवैध, सेक्स

इसके अलावा, क्या होटल प्रशासन को यह अनुमति है कि वो अविवाहित जोड़े को कमरा देने से इनकार करने की अनुमति है? जवाब फिर से है, ‘नहीं’। फिर भी, देश भर के कई होटल अनौपचारिक रूप से ऐसे जोड़ों को कमरा देने से इनकार करते हैं। ऐसा करने के कारण हैं, क्योंकि वे पुलिस हस्तक्षेप, छापे और अवांछित परेशानी से डरते हैं। खैर, भारतीय संस्कृति और पवित्रता की रक्षा करना भी उनके कई विचारों में से एक हैं। कुछ प्रमुख कारण, जो अविवाहित जोड़े को कमरा देने से मना करने के दौरान होटल प्रशासन से सुनने को मिलते हैं:

“क्षमा करें महोदय, कोई कमरा उपलब्ध नहीं है”, “हमें खेद है, महोदय। यह होटल नीति है।”

कुछ होटल प्रबंधकों के लिए, अविवाहित जोड़े की एक साथ रहने की इच्छा रखना, एक बड़े सदमे के रूप में आता है,

“परिवार के सदस्य है या अपके भाई है ये?”, “क्या? आप दोनों अविवाहित हैं?”

केवल पांच सितारा और उच्च अंत होटल ऐसी ‘नीतियों’ और ‘नियम’ के लिए अपवाद हैं।
“हम ऐसे किसी भी नियम से अवगत नहीं हैं”
-भारत भूषण, एचएआई (होटल होटल एसोसिएशन) प्रवक्ता

इस देश के नागरिकों के रूप में, हमें अपने अधिकारों से अवगत होना चाहिए। सबसे पहले अगर आप अविवाहित हैं तो आपके द्वारा अपने साथी के साथ होटल लेना कोई अपराध नहीं है। जब तक आप 18+ हैं, अपनी पहचान का कानूनी प्रमाण प्रस्तुत कर सकते हैं और किसी भी अवैध गतिविधि में शामिल नहीं हैं, तब तक कोई भी होटल आपको कमरा देने से इंकार नहीं कर सकता है। यदि आप एक ही शहर से हैं तो भी कोई होटल आपको कमरा देने से इंकार नहीं कर सकता है।

READ  मिलिए केरल की कार्तियानी अम्मा से, 96 वर्ष की उम्र में किया है केरल की साक्षरता परीक्षा में टॉप
अविवाहित जोड़ा, होटल, कानून, अवैध, सेक्स

साथ ही, इस बात से अवगत रहें कि होटल स्थान ‘अस्वस्थ सार्वजनिक व्यवहार’ (Indecent public behavior) के आधार पर आपको होटल के कमरे से गिरफ्तार नहीं करवा सकता है क्योंकि होटल का कमरा एक निजी जगह है और सार्वजनिक नहीं है। कोई भी हो (पुलिस अफसर भी), अगर वो आपके उत्पीड़न या ब्लैकमेलिंग के इरादे से आपकी फोटोग्राफ निकालने या वीडियो रिकॉर्ड करने की कोशिश करता है, तो आप हमेशा उस व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर सकते हैं। अनुमति के बिना किसी की फोटोग्राफ निकालना  या वीडियो रिकॉर्ड करना आपकी गोपनीयता का उल्लंघन है और यह कानून के खिलाफ है।

यह कुछ गंभीर मुद्दा है, है ना? युवा जोड़े, आपको एक कमरा बुक करने के लिए परेशान होने की जरुरत नहीं हैं। आप मेकमायट्रिप या Booking.com जैसे दो दोस्ताना ऐप्स के माध्यम से कमरे बुक करने का प्रयास कर सकते हैं। ये ऐप्स आपकी सुरक्षा, गोपनीयता सुनिश्चित करते हैं और यह भी सुनिश्चित करते हैं कि आप ऐसे होटल में बुकिंग ना प्राप्त करें जहां अविवाहित जोड़ों का स्वागत नहीं किया जाता है। ओयो रूम ऐप आपको ‘रिलेशनशिप मोड’ सुविधा प्रदान करता है जिसके जरिये आप सस्ती कीमतों पर एक कमरा बुक कर सकते हैं। StayUncle और LuvStay जैसे स्टार्टअप का उद्देश्य भी युवा जोड़ों के लिए कमरे उपलब्ध कराना है। वे आपकी पहचान की सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं और पुलिस का हस्तक्षेप नहीं होने देते हैं। ये स्टार्टअप आपको 10 घंटे तक के लिए एक कमरा बुक करने की अनुमति भी देते हैं। अब आप अपने ‘किसी ख़ास’ के साथ रोमांटिक पल बिताने के लिए परेशानी मुक्त कमरा बुक कर सकते हैं।

तो, एक कमरा खोजें, प्रेम करें और सुरक्षित रहें।

Bringing you independent, solution-oriented and well-researched stories takes us hundreds of hours each month, and years of skill-training that went behind. If our stories have inspired you or helped you in some way, please consider becoming our Supporter.

Sparsh Upadhyay

एक विचाराधीन कैदी हूँ। कानून की पढ़ाई भी की है। जितना पढ़ता हूँ, कोशिश रहती है कि उतना ही लिखूं भी। सच्चाई, ईमानदारी और प्रेम को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत समझता हूँ।

About the Author

Sparsh Upadhyay

एक विचाराधीन कैदी हूँ। कानून की पढ़ाई भी की है। जितना पढ़ता हूँ, कोशिश रहती है कि उतना ही लिखूं भी। सच्चाई, ईमानदारी और प्रेम को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत समझता हूँ।

Read more from Sparsh

MORE STORIES 💯